AstrologyClass | Jyotish | Kundli

काल सर्प दोष

कुंडली में जब सात ग्रह सूर्य, चन्द्र, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र और शनि राहू और केतु के बीच स्थित होते है तो व्यक्ति कालसर्प योग से पीडित हो जाता है। काल सर्प दोष हर राशि के जातकों के लिए समान नहीं होता। यह राशि के अनुसार अलग-अलग प्रभाव होता है। यानि यदि कुंडली में 12 भाव है तो 7 भावो में ग्रह हो और डिग्री में राहु और केतु के अंदर हो दूसरी और 5 भावो में कोई ग्रह न हो तो इसे काल सर्प दोष या योग कहते है.

1 2 3 लग्न राहु4 5 6 बृहस्पति7 मंगल8 बुध शनि9 सूर्य चन्द्र शुक्र केतु10 11 12

आपकी जन्म कुंडली में कालसर्प योग हैं ।

जन्म विवरण
Latitude28.36ZoneAsia/KolkataCountryINDIADate2018-01-18
Longitude77.12Time Zone+05:30StateDELHITime19:27:57
जन्म विवरण चेंज करे।


© 2017 astrologyClass.org, Delhi, India . All rights reserved (V3.1.2 update 16 Nov 2017) Website developed & SEO by : Vishv sahdev V23.in