आरूढ़ लग्न की गणना किस प्रकार की जाती हैं।
मंगल1 2 राहु3 4 चन्द्र5 6 7 बृहस्पति8 शनि केतु9 शुक्र10 लग्न बुध11 सूर्य12
मंगल1 2 राहु3 4 चन्द्र5 6 लग्न7 बृहस्पति8 शनि केतु9 शुक्र10 बुध11 सूर्य12

आरूढ़ लग्न


जातक की समाजिक छबि कैसी होगी, कैरियर और कौन से फील्ड में जाएगा ये आरूढ़ लग्न से देखि जाती हैं।

आरूढ़ लग्न की गणना किस प्रकार की जाती हैं।

उदहारण
इस कुंडली में लग्न का स्वामी शनि है और शनि लग्न से इस कुंडली में 11 भाव दूर है और अब शनि से 11 भाव और गिने , तो आरूढ़ लग्न की राशि हुई तुला

Arudha lagna