आरूढ़ लग्न की गणना किस प्रकार की जाती हैं।
लग्न1 2 सूर्य शुक्र राहु3 बुध मंगल4 5 6 7 बृहस्पति8 चन्द्र शनि केतु9 10 11 12
1 2 सूर्य शुक्र राहु3 बुध मंगल4 5 6 लग्न7 बृहस्पति8 चन्द्र शनि केतु9 10 11 12

आरूढ़ लग्न


जातक की समाजिक छबि कैसी होगी, कैरियर और कौन से फील्ड में जाएगा ये आरूढ़ लग्न से देखि जाती हैं।

आरूढ़ लग्न की गणना किस प्रकार की जाती हैं।

उदहारण
इस कुंडली में लग्न का स्वामी मंगल है और मंगल लग्न से इस कुंडली में 4 भाव दूर है और अब मंगल से 4 भाव और गिने , तो आरूढ़ लग्न की राशि हुई तुला

Arudha lagna