tajik-yog

इत्थशाल योग | ताजिक योग
Birth Chart
Transit Chart
3 4 5 Me6 Su Ma7 Ve Ke8 9 Ju Sa10 11 12 1 Mo Ra2
3 4 5 Me6 Su Ma7 Ve Ke8 9 Ju Sa10 11 12 1 Mo Ra2
इत्थशाल योग सूर्य

लग्नेश : बुध

कार्येश : सूर्य

राशि लग्न: द्विस्वभाव

राशि कार्ये: चर

इत्थशाल योग के निर्माण में शामिल चरण हैं।

  1. शीघ्र गति ग्रह मंद गति ग्रह के पीछे हों ।
    • (शीघ्र गति से मंद गति ) -- (चन्द्र, बुध, शुक्र, सूर्य, मंगल, बृहस्पति, शनि)
    • शीघ्र गति (बुध) ग्रह मंद गति (सूर्य) ग्रह से पीछे है।
    • .
  2. लग्नेश और कार्येश में परस्पर ताजिक (मित्र या शत्रु) दृष्टि हो।
    • (शत्रु दृष्टि ) -1,4,7,10 (मित्र दृष्टि )- 3,5,9,11 (सम दृष्टि )- 2,6,8,12
    • दूसरी सम दृष्टि
    • .
  3. दोनों ग्रह अपने दीप्तांश के औसत में हो।
    • (सूर्य-15, चन्द्र-12, मंगल-8, बुध-7, बृहस्पति-9, शुक्र-7, शनि-9)
    • दीप्तांश सीमा का औसत ( 7 + 15 ) / 2 = 11°
    • कार्येश के अंशों का अंतर 7.33° है जो 11° दीप्तांश सीमा के औसत में है

इत्थशाल योग नहीं है, क्योकि यह तीन में से एक शर्तो को पूरा नहीं करता।

इत्थशाल योग चन्द्र

लग्नेश : बुध

कार्येश : चन्द्र

राशि लग्न: द्विस्वभाव

राशि कार्ये: स्थिर

इत्थशाल योग के निर्माण में शामिल चरण हैं।

  1. शीघ्र गति ग्रह मंद गति ग्रह के पीछे हों ।
    • (शीघ्र गति से मंद गति ) -- (चन्द्र, बुध, शुक्र, सूर्य, मंगल, बृहस्पति, शनि)
    • शीघ्र गति (चन्द्र) ग्रह मंद गति (बुध) ग्रह से पीछे है।
    • .
  2. लग्नेश और कार्येश में परस्पर ताजिक (मित्र या शत्रु) दृष्टि हो।
    • (शत्रु दृष्टि ) -1,4,7,10 (मित्र दृष्टि )- 3,5,9,11 (सम दृष्टि )- 2,6,8,12
    • नौवीं मित्र दृष्टि
    • .
  3. दोनों ग्रह अपने दीप्तांश के औसत में हो।
    • (सूर्य-15, चन्द्र-12, मंगल-8, बुध-7, बृहस्पति-9, शुक्र-7, शनि-9)
    • दीप्तांश सीमा का औसत ( 7 + 12 ) / 2 = 9.5°
    • कार्येश के अंशों का अंतर 21.99° जो 9.5° दीप्तांश सीमा के औसत में नहीं है

इत्थशाल योग नहीं है, क्योकि यह तीन में से एक शर्तो को पूरा नहीं करता।

इत्थशाल योग बुध

क्योकि लग्नेश और कार्यश एक है। इसलिए चन्द्रमा को कार्यश मानकर चलते है

लग्नेश : बुध

कार्येश : चन्द्र

राशि लग्न: द्विस्वभाव

राशि कार्ये: स्थिर

इत्थशाल योग के निर्माण में शामिल चरण हैं।

  1. शीघ्र गति ग्रह मंद गति ग्रह के पीछे हों ।
    • (शीघ्र गति से मंद गति ) -- (चन्द्र, बुध, शुक्र, सूर्य, मंगल, बृहस्पति, शनि)
    • शीघ्र गति (चन्द्र) ग्रह मंद गति (बुध) ग्रह से पीछे है।
    • .
  2. लग्नेश और कार्येश में परस्पर ताजिक (मित्र या शत्रु) दृष्टि हो।
    • (शत्रु दृष्टि ) -1,4,7,10 (मित्र दृष्टि )- 3,5,9,11 (सम दृष्टि )- 2,6,8,12
    • नौवीं मित्र दृष्टि
    • .
  3. दोनों ग्रह अपने दीप्तांश के औसत में हो।
    • (सूर्य-15, चन्द्र-12, मंगल-8, बुध-7, बृहस्पति-9, शुक्र-7, शनि-9)
    • दीप्तांश सीमा का औसत ( 7 + 12 ) / 2 = 9.5°
    • कार्येश के अंशों का अंतर 21.99° जो 9.5° दीप्तांश सीमा के औसत में नहीं है

इत्थशाल योग नहीं है, क्योकि यह तीन में से एक शर्तो को पूरा नहीं करता।

इत्थशाल योग शुक्र

लग्नेश : बुध

कार्येश : शुक्र

राशि लग्न: द्विस्वभाव

राशि कार्ये: चर

इत्थशाल योग के निर्माण में शामिल चरण हैं।

  1. शीघ्र गति ग्रह मंद गति ग्रह के पीछे हों ।
    • (शीघ्र गति से मंद गति ) -- (चन्द्र, बुध, शुक्र, सूर्य, मंगल, बृहस्पति, शनि)
    • शीघ्र गति (बुध) ग्रह मंद गति (शुक्र) ग्रह से पीछे है।
    • .
  2. लग्नेश और कार्येश में परस्पर ताजिक (मित्र या शत्रु) दृष्टि हो।
    • (शत्रु दृष्टि ) -1,4,7,10 (मित्र दृष्टि )- 3,5,9,11 (सम दृष्टि )- 2,6,8,12
    • तीसरी मित्र दृष्टि
    • .
  3. दोनों ग्रह अपने दीप्तांश के औसत में हो।
    • (सूर्य-15, चन्द्र-12, मंगल-8, बुध-7, बृहस्पति-9, शुक्र-7, शनि-9)
    • दीप्तांश सीमा का औसत ( 7 + 7 ) / 2 = 7°
    • कार्येश के अंशों का अंतर 24.19° जो 7° दीप्तांश सीमा के औसत में नहीं है

इत्थशाल योग नहीं है, क्योकि यह तीन में से एक शर्तो को पूरा नहीं करता।

इत्थशाल योग मंगल

लग्नेश : बुध

कार्येश : मंगल

राशि लग्न: द्विस्वभाव

राशि कार्ये: स्थिर

इत्थशाल योग के निर्माण में शामिल चरण हैं।

  1. शीघ्र गति ग्रह मंद गति ग्रह के पीछे हों ।
    • (शीघ्र गति से मंद गति ) -- (चन्द्र, बुध, शुक्र, सूर्य, मंगल, बृहस्पति, शनि)
    • शीघ्र गति (बुध) ग्रह मंद गति (मंगल) ग्रह से पीछे है।
    • .
  2. लग्नेश और कार्येश में परस्पर ताजिक (मित्र या शत्रु) दृष्टि हो।
    • (शत्रु दृष्टि ) -1,4,7,10 (मित्र दृष्टि )- 3,5,9,11 (सम दृष्टि )- 2,6,8,12
    • दूसरी सम दृष्टि
    • .
  3. दोनों ग्रह अपने दीप्तांश के औसत में हो।
    • (सूर्य-15, चन्द्र-12, मंगल-8, बुध-7, बृहस्पति-9, शुक्र-7, शनि-9)
    • दीप्तांश सीमा का औसत ( 7 + 8 ) / 2 = 7.5°
    • कार्येश के अंशों का अंतर 1.89° है जो 7.5° दीप्तांश सीमा के औसत में है

इत्थशाल योग नहीं है, क्योकि यह तीन में से एक शर्तो को पूरा नहीं करता।

इत्थशाल योग बृहस्पति

लग्नेश : बुध

कार्येश : बृहस्पति

राशि लग्न: द्विस्वभाव

राशि कार्ये: द्विस्वभाव

इत्थशाल योग के निर्माण में शामिल चरण हैं।

  1. शीघ्र गति ग्रह मंद गति ग्रह के पीछे हों ।
    • (शीघ्र गति से मंद गति ) -- (चन्द्र, बुध, शुक्र, सूर्य, मंगल, बृहस्पति, शनि)
    • शीघ्र गति (बुध) ग्रह मंद गति (बृहस्पति) ग्रह से पीछे है।
    • .
  2. लग्नेश और कार्येश में परस्पर ताजिक (मित्र या शत्रु) दृष्टि हो।
    • (शत्रु दृष्टि ) -1,4,7,10 (मित्र दृष्टि )- 3,5,9,11 (सम दृष्टि )- 2,6,8,12
    • पांचवी मित्र दृष्टि
    • .
  3. दोनों ग्रह अपने दीप्तांश के औसत में हो।
    • (सूर्य-15, चन्द्र-12, मंगल-8, बुध-7, बृहस्पति-9, शुक्र-7, शनि-9)
    • दीप्तांश सीमा का औसत ( 7 + 9 ) / 2 = 8°
    • कार्येश के अंशों का अंतर 28.24° जो 8° दीप्तांश सीमा के औसत में नहीं है

इत्थशाल योग नहीं है, क्योकि यह तीन में से एक शर्तो को पूरा नहीं करता।

इत्थशाल योग शनि

लग्नेश : बुध

कार्येश : शनि

राशि लग्न: द्विस्वभाव

राशि कार्ये: चर

इत्थशाल योग के निर्माण में शामिल चरण हैं।

  1. शीघ्र गति ग्रह मंद गति ग्रह के पीछे हों ।
    • (शीघ्र गति से मंद गति ) -- (चन्द्र, बुध, शुक्र, सूर्य, मंगल, बृहस्पति, शनि)
    • शीघ्र गति (बुध) ग्रह मंद गति (शनि) ग्रह से पीछे है।
    • .
  2. लग्नेश और कार्येश में परस्पर ताजिक (मित्र या शत्रु) दृष्टि हो।
    • (शत्रु दृष्टि ) -1,4,7,10 (मित्र दृष्टि )- 3,5,9,11 (सम दृष्टि )- 2,6,8,12
    • पांचवी मित्र दृष्टि
    • .
  3. दोनों ग्रह अपने दीप्तांश के औसत में हो।
    • (सूर्य-15, चन्द्र-12, मंगल-8, बुध-7, बृहस्पति-9, शुक्र-7, शनि-9)
    • दीप्तांश सीमा का औसत ( 7 + 9 ) / 2 = 8°
    • कार्येश के अंशों का अंतर 12.88° जो 8° दीप्तांश सीमा के औसत में नहीं है

इत्थशाल योग नहीं है, क्योकि यह तीन में से एक शर्तो को पूरा नहीं करता।

Birth Info Edit
DoB2021-10-24
ToB22:16:08
PoBDelhi, IN
Transit Info Edit
Date2021-10-24
Time22:16:08
PlaceDelhi, IN